image

Asia Cup 2022 | भारत और पाकिस्तान सहित छह शीर्ष टीमो मे शनिवार से बादशाहत की जंग शुरू हो गई है | यूएई मे 16 दिन तक चलने वाले एशिया कप मे सभी टीमो का लक्ष्य ख़िताब के साथ ही आगामी टी -20 विशव कप के लिए अपनी तेयारियां पुख्ता करने का भी होगा | महज़ दूसरी बार एशिया कप टी -20 प्रारूप मे हो रहा है |

भारत की ताकत :

नए कोच द्रविड़ और नए कप्तान रोहित की टीम आक्रामक खेल दिखा रहीं है | खिलाड़ियों की स्ट्राइक रेट शानदार है, भले ही खिलाड़ी अर्द्धशतक नहीं बना पाए हों |भारत के खिलाड़ियों ने T-20 में अपने रन-रेट को 8.20 की तुलना में 9.29 तक पहुंचा दिया है |इन दोनों के युग में टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 15 में से 21 मैच जीते हैं | और तीन मैच हारे हैं |

भारत की कमज़ोरी :

भारत की कमज़ोरी यह रहेगी कि अगर ओपनर नहीं चले तो मध्यक्रम का लड़खड़ाना,स्पिनरो पर अधिक निर्भरता, इसके अलावा कोहली और रोहित जैसे स्टार खिलाड़ियों का फॉर्म में न होना |
ट्रम्प कार्ड :हार्दिक पांड्या-ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या शानदार फॉर्म में हैं |तेज़ गति से रन बनाने के साथ साथ हार्दिक पूरे चार ओवर फेंक रहे हैं |


पाकिस्तान की ताकत :

पाकिस्तान की ताकत उसका शीर्षक्रम गेंदबाज़ी आक्रमण है |पाकिस्तान ले पास मोहम्मद रिज़वान, फखर ज़मा और हैदर अली जैसे अच्छे बल्लेबाज़ हैं |

कमज़ोरी :

खेल में निरंतरता ना होना और शानदार गेंदबाज़ आफरीदी का चोटिल होना पाकिस्तान की कमज़ोरी होगी |
ट्रम्प कार्ड : बाबर आज़म -T-20 में मौजूदा समय में सबसे ख़तरनाक खिलाड़ी बाबर आज़म हैं |बाबर ने 74 टी -20 मुकाबलों में एक शतक और 26 अर्द्धशतक से 2686 रन बनाए हैं |

बांग्लादेश की ताकत :

बांग्लादेश की ताकत उलटफेर करने में सक्षम होना है |बांग्लादेश ने पिछले दो एशिया कप में फाइनल तक का सफर तय किया था |टीम ने श्रीधरन श्रीराम कों तकनीकी निदेशक के रूप में टीम से जोड़ा है |

कमज़ोरी :बांग्लादेश की कमज़ोरी कप्तानी में बार बार बदलाव से लय का प्रभावित होना है |विश्व कप के बाद से छोटे प्रारूप में संघर्ष किया है |

ट्रम्प कार्ड :शाकिब अल हसन -यह खिलाड़ी ऑलराउंडर क्षमता से गेम का रुख बदलने में माहिर है |शाकिब ने 99 टी-20 में 2010 रन बनाने के साथ 121 विकेट भी बनाए हैं |

अफ़ग़ानिस्तान की ताकत :

अफ़ग़ानिस्तान की टीम में विश्व स्तरीय स्पिनर हैं, जो किसी भी टीम को अपनी फिरकी में फंसा सकते हैं |

कमज़ोरी :बांग्लादेश की कमज़ोरी यह है कि पूरी टीम एक -दो खिलाड़ियों पर निर्भर है |टीम बल्लेबाज़ों से बड़ी पारी की उम्मीद करेगी |
ट्रम्प कार्ड :राशिद खान -इस लेग स्पिनर ने 66 टी -20 में 112 विकेट लिए हैं |राशिद का टी-20 में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन तीन रन पर पांच विकेट हैं |

हॉन्गकांग की ताकत :

हांगकांग चौथी बार एशिया कप में उतरेगी |इस टीम में कोई भी खिलाड़ी अपने देश का नहीं है |इस 17 सदस्यी टीम के 12 खिलाड़ी पाकिस्तान मूल के हैं जबकि 4 भारतीय मूल के हैं | एक खिलाड़ी ब्रिटिश मूल का है |
श्रीलंका की ताकत : श्रीलंका की स्पिन गेंदबाज़ी सबसे बड़ी ताकत है |कुसल और भानुका राजपेक्ष अच्छी फॉर्म में हैं |

Asia cup 2022


कमज़ोरी :बांग्लादेश के खिलाड़ियों कों तजुर्बे की काफ़ी कमी है |देश में चल रहें आंतरिक संघर्ष के कारण भी टीम के खिलाड़ी प्रभावित हों सकते हैं |
ट्रम्प कार्ड -वानिदु हसरंगा :यह एक बड़ा नाम है |श्रीलंका के इस स्पिनर ऑलराउंडर ने इस साल आईपीएल में भी कहर ढाया था | लेग-स्पिन करते हुए उन्होंने 16 मैच में 26 विकेट लिए थे |

पाक के ‘पांच सुपर’ खिलाड़ी सबसे बड़ी चुनौती-Asia cup challenge

One thought on “Asia Cup 2022: टीमों की ताकत और कमज़ोरी”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *