Ind Vs Aus | लाल और काली मिटटी के चलते इंदौर की पिच को लेकर अभी से ही कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच इंदौर में 1 मार्च से टेस्ट मैच शुरू हो रहा है. टीम इंडिया सीरीज़ में 2-0 की बढ़त बना चुकी है और अब उसकी नज़र सीरीज़ जीत पर है.

1 मार्च से भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टेस्ट मैच शुरू हो रहा है .टीम इंडिया अभी तक 2-0 से चार टेस्ट मैच की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में आगे चल रही है. पिच को लेकर यहाँ सीरीज़ की शुरुआत से ही काफी हंगामा हो रहा है .इंदौर की पिच को लेकर जो हंगामा हो रहा है इससे पहले ऐसा हंगामा नागपुर और दिल्ली टेस्ट में हो चुका है .

Test match

दरअसल, 1 मार्च से शुरू होने वाले टेस्ट मैच से पहले पिच की तस्वीरें सामने आईं हैं ,जिसमें दिखाया गया है कि इंदौर की पिच लाल मिट्टी से तैयार की गई है.हालाँकि ये कयास भी लगाये जा रहे हैं कि पिच का कुछ हिस्सा काली मिट्टी से भी तैयार हुआ है. इसी को लेकर अलग अलग चर्चाएँ हो रही हैं .

ऐसा इसीलिए हो रहा है क्योकि अगर कोई पिच लाल मिट्टी से तैयार की जाती है, तब उसपर हल्की घास भी छोड़ी जाती है. ऐसे में इस तरह की पिच पर उछाल और स्पीड देखने को मिलती है, यानी तेज़ गेंदबाज़ों को इस तरह की पिच पर मदद मिल सकती है.अगर बात करें काली मिटटी की तो काली मिट्टी की पिच पर गेंद रुककर आती है, ऐसे में स्पिनर्स को टर्न कराने में फायदा होता है.

टॉस की भी होगी महत्तवपूर्ण भूमिका : (Ind Vs Aus )

अगर लाल मिट्टी की पिच होती है, तो पहली बल्लेबाजी करने वाली टीम को फायदा पहुंच सकता है क्योंकि ताजी पिच में उछाल होगी तो बल्लेबाजी के लिए कुछ हदतक आसान होगी .ऐसे में टॉस भी काफी महत्तवपूर्ण भूमिका निभायगा.

इंदौर में मैच शुरू होने से दो दिन पहले पिच पर रोलर चलाया गया था और पानी छोड़ा गया था. ऐसा अक्सर टेस्ट मैच से पहले किया जाता है, यहां होम टीम को कुछ बेनेफिट मिलते हैं कि वह कितना पानी और रोलर का इस्तेमाल करवाना चाहते हैं.अब ये तो 1 मार्च को इंदौर में दोनों टीमो के आमने सामने आने पर ही पता चलेगा कि पिच का क्या मामला सामने आता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *